इस ब्लाग परिवार के हमारे सदस्य साथी....

मंगलवार, 16 नवंबर 2010

विचार यात्रा- समझ.

                                                   "odzcd2n5sit6"
                               विचा यात्रा
  •      "हम कोरी स्लेट के समान इस दुनिया में अपनी जीवन यात्रा प्रारम्भ करते हैं । जैसे-जैसे हमारी समझ विकसित होती है- हम अपने माता-पिता-गुरु,  घर-परिवार, स्कूल-कालेज, मित्र-परिचित, साहित्य-सिनेमा, और जहाँ तक जिनके भी सम्पर्क में आते हैं, प्रत्येक से रोजमर्रा की जिन्दगी में कुछ-न-कुछ नया सीखते व समझते हैं । अब इनमें जिन भी विचारों को हम अपनी सोच और व्यवहार के अधिक करीब पाते हैं, अंततः वे हमारे अपने विचार बन जाते हैं ।"
  •  

8 टिप्पणियाँ:

Avtar Meher Baba ने कहा…

Good One...
angrezikiclass.blogspot.com

Patali-The-Village ने कहा…

सही कहा आपने|

Nirankush Aawaz ने कहा…

मित्र आप और आपकी तरह से अनेक साथी ब्लॉग पर लिख रहे हैं। किसी ने किसी स्तर पर इसका समाज पर असर होता है। जिससे देश की ताकत और मानवता को मजबूती मिलती है, लेकिन भ्रष्टाचार का काला नाग सब कुछ चट कर जाता है। क्या इसके खिलाफ एकजुट होने की जरूरत नहीं है? भ्रष्टाचार से केवल सीधे तौर पर आहत लोग ही परेशान हों ऐसा नहीं है, बल्कि भ्रष्टाचार वो सांप है जो उसे पालने वालों को भी नहीं पहचानता। भ्र्रष्टाचार रूपी काला नाग कब किसको डस ले, इसका कोई भी अनुमान नहीं लगा सकता! भ्रष्टाचार हर एक व्यक्ति के जीवन के लिये खतरा है। अत: हर व्यक्ति को इसे आज नहीं तो कल रोकने के लिये आगे आना ही होगा, तो फिर इसकी शुरुआत आज ही क्यों न की जाये?

इसी दिशा में कुछ सुझाव एवं समाधान सुझाने के छोटे से प्रयास के रूप में-

"रुक सकता है 90 फीसदी भ्रष्टाचार!"

आलेख निम्न ब्लॉग्स पर पढा जा सकता है?

http://baasvoice.blogspot.com/2010/11/90.html

http://presspalika.blogspot.com/2010/11/90.html

http://presspalika.mywebdunia.com/2010/11/17/90_1289972520000.html
Yours.
Dr. Purushottam Meena 'Nirankush
NP-BAAS, Mobile : 098285-02666
Ph. 0141-2222225 (Between 7 to 8 PM)
dplmeena@gmail.com
dr.purushottammeena@yahoo.in

'उदय' ने कहा…

... atisundar !!!

खबरों की दुनियाँ ने कहा…

अच्छी पोस्ट , शुभकामनाएं । पढ़िए "खबरों की दुनियाँ"

वन्दना ने कहा…

आपकी रचनात्मक ,खूबसूरत और भावमयी
प्रस्तुति कल के चर्चा मंच का आकर्षण बनी है
कल (29/11/2010) के चर्चा मंच पर अपनी पोस्ट
देखियेगा और अपने विचारों से चर्चामंच पर आकर
अवगत कराइयेगा।
http://charchamanch.blogspot.com

डॉ॰ मोनिका शर्मा ने कहा…

arthpoorn vichar... bahut sunder

अनुपमा पाठक ने कहा…

सुन्दर विचार आत्मसात हों!

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...