इस ब्लाग परिवार के हमारे सदस्य साथी....

गुरुवार, 11 अप्रैल 2013

पुरखों की सीख

            हममें से अधिकांश लोग अक्सर हर महत्वपूर्ण अवसर पर जल बचाने की बात तो अनिवार्य रुप से करते हैं किन्तु व्यवहारिक जीवन में यदि कहीं सार्वजनिक रुप से नल चालू रह जाने से पानी ढुलता हुआ दिखे तो कभी भी रुककर नल को बन्द करने की तकलीफ कभी अपनी जल्दी में तो कभी लोग क्या कहेंगे वाली सोच को आगे रखकर नहीं करते । जबकि हमारे हिस्से की जिम्मेदारी ये जानवर निभाते देखे जा सकते हैं । देखिये सिर्फ आधे मिनीट का यह वीडियो और सोचिये कि ऐसी स्थिति में ये नेक कार्य हमें भी क्यों नहीं करना चाहिये ?


 
आप सभी मित्रों को नवसंवत्सर 2070 की हार्दिक शुभकामनाएँ...

 

9 टिप्पणियाँ:

रविकर ने कहा…

आपकी उत्कृष्ट प्रस्तुति शुक्रवारीय चर्चा मंच पर ।।

सुशील बाकलीवाल ने कहा…

धन्यवाद आपको रविकरजी.

Rajendra Kumar ने कहा…

बेहतरीन प्रस्तुति,आपको भी नवसंवत्सर की हार्दिक शुभकामनायेँ!

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

उपयोगी सीख

बेनामी ने कहा…

Hey I know this is off topic but I was wondering if you knew of any widgets I could add to my blog that automatically tweet my newest twitter updates.
I've been looking for a plug-in like this for quite some time and was hoping maybe you would have some experience with something like this. Please let me know if you run into anything. I truly enjoy reading your blog and I look forward to your new updates.

Here is my site - nice theme

Dr.Ashutosh Mishra "Ashu" ने कहा…

अच्छी जानकारी

expression ने कहा…

अच्छी सीख दी है....
आपको भी नव संवत्सर की शुभकामनाएं...

अनु

सरिता भाटिया ने कहा…

सुंदर रचना बधाई
http://guzarish66.blogspot.in/2013/04/1.html

मन के - मनके ने कहा…

प्रस्तुत चित्र बहुत अच्छे लगे,बहुत कह गये

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...