This is default featured slide 1 title

Go to Blogger edit html and find these sentences.Now replace these sentences with your own descriptions.

This is default featured slide 2 title

Go to Blogger edit html and find these sentences.Now replace these sentences with your own descriptions.

This is default featured slide 3 title

Go to Blogger edit html and find these sentences.Now replace these sentences with your own descriptions.

This is default featured slide 4 title

Go to Blogger edit html and find these sentences.Now replace these sentences with your own descriptions.

This is default featured slide 5 title

Go to Blogger edit html and find these sentences.Now replace these sentences with your own descriptions.

इस ब्लाग परिवार के हमारे सदस्य साथी....

गुरुवार, 31 मार्च 2011

ये पत्नियां !


         कल एक ब्लाग पर पत्नी की महिमा कुछ विशेष कम्प्यूटरीय विषेषणों से युक्त देखने के बाद पाठक वर्ग की जानकारी में कुछ और वृद्धि करने के उद्देश्य से-

 पत्नी
जो रहे पति से तनी-तनी,
खाली करवादे सारी मनी, 
कहलाती है वो पत्नी.


      एक पति ने पत्नी से पूछा : वाईफ का मतलब जानती हो- 'विदाउट इन्फर्मेशन फाईटिंग एवरीवेअर'.

      पत्नी - ये काम तो मैं जब चाहे कर सकती हूँ तभी तो  वाईफ को 'विद इटियट फार एवर' कहते हैं.

       एक पत्नी जो अपने पति की किसी बात पर उससे झगड रही थी, पति को न जाने क्या-क्या सुनाती जा रही थी और पति चुपचाप अपने अखबार में नजर गडाये सब सुन रहा था । पत्नी के सब्र की जब इन्तहा हो गई तो वो पति से गुस्से में बोल गई- कुछ जवाब क्यों नहीं देते ? जानवर कहीं के.
पति महोदय यहाँ भी चुप्पी ही साधे रहे.

        पति की चुप्पी के इस दौर में पत्नी आखिर अपने कमरे में चली गई । एकांत में पश्चाताप  भी हुआ कि मैंने क्रोध में अपने पति को जानवर कैसे बोल दिया । कुछ पश्चाताप की सी मुद्रा में वह अपने पति के पास आकर बोली मुझे माफ कर दो गुस्से में मैं आपको जानवर बोल गई । पति तब मुस्कराते हुए बोला- तो क्या हुआ वो तो मैं हूँ.
         पत्नी आश्चर्य से बोली ये कैसी बात कर रहे हैं आप ?
         तब पति अपनी पत्नी से बोला- देखो तुम मुझे जान कहती हो ना ? पत्नी ने स्वीकारा- हाँ.
        पति ने फिर कहा- और मैं तुम्हारा वर हूँ या नहीं
? पत्नी बोली- हाँ.
        तो फिर मैं जानवर हुआ या नहीं ? पति ने पत्नी की जिज्ञासा का समाधान करते हुए कहा ।

         
         जानकारों की राय में- सयानी स्त्री पुरुष से जो कुछ भी कहती है उसमें थोडी शकर मिलाकर कहती है और पुरुष जो कुछ कहता है उसे थोडे नमक के साथ ग्रहण करती है ।


मंगलवार, 29 मार्च 2011

जीवन एक क्रिकेट !



जीवन एक क्रिकेट है
सृष्टि के महान स्टेडियम में,
धरती की विराट पिच पर
समय बालिंग कर रहा है,
शरीर बल्लेबाज है,
ईश्वर के इस आयोजन में
अम्पायर धर्मराज है.
 
बीमारियां फिल्डिंग कर रही हैं
विकेटकीपर यमराज है,
प्राण हमारा विकेट है
जीवन एक क्रिकेट है.
इस डे-नाईट के मेच में
रचनात्मकता के जलवे दिखाने हैं,
और सांसों के सीमित ओवर में
सृजन के रन बनाने हैं.
 
गिल्लियां उडने का अर्थ
सांस का टूट जाना है,
एल बी डबल्यू याने हार्ट-अटेक,
 दुर्घटना में मरने वाला
रन आऊट कहलाता है,
और सीमा पर शहीद होने वाला
कैच आऊट कहा जाता है.
 
आत्म हत्या का अर्थ
हिट विकेट
 और हत्या स्टम्प आउट हो जाना
है.
कुछ आक्रामक खिलाडी
जल्द ही पैवेलियन लौट जाते हैं
लेकिन पारी ऐसी खेलते हैं
कि कीर्तिमान स्थापित कर जाते हैं
 सबका अपना-अपना रन रेट है
जीवन एक क्रिकेट है ।
चिन्तन सौजन्य : 
राष्ट्रसंत मुनि श्री तरुणसागरजी

शनिवार, 26 मार्च 2011

चित्र-13. अगले विश्वविजेता कौन ?




भोजन व भजन के बाद प्रेक्टिस के दौर में.


बुधवार, 23 मार्च 2011

चित्र-12. तलाश...!


सवाल पापी पेट का


वन-टू, चल शुरु हो जा...


शुक्रवार, 18 मार्च 2011

चित्र-11. कडवा सच जीवन का....





आपका क्या कहना है ?


बुधवार, 16 मार्च 2011

चित्र-10. आकस्मिक आक्रमण होली का !





होली...   अपनों अपनों में हो ली.

शनिवार, 12 मार्च 2011

शुक्रवार, 11 मार्च 2011

चित्र-8. अन्तर आम व खास का.




समरथ को नहीं दोष गुसांई...


मंगलवार, 8 मार्च 2011

चित्र-7. अगली टीम गोलमाल सीरिज की..







गोलमाल सीरीज की अगली टीम


रविवार, 6 मार्च 2011

चित्र-6. मस्तानों की टोली.

आई मस्तों की टोली


गोविन्दा आला रे...

या

अन्तरिक्ष की ओर  ?


गुरुवार, 3 मार्च 2011

चित्र-5. अब दिल्ली दूर नहीं.



ये गधा गधों का लीडर
कहता है कि दिल्ली जाकर
मांगें सब अपने कौम की मैं मनवाकर आउंगा
नहीं तो, घास न खाउंगा ।


Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...