इस ब्लाग परिवार के हमारे सदस्य साथी....

गुरुवार, 10 फ़रवरी 2011

चित्र-2. कोई मेरी भी शादी करादे...



सकारात्मक आज-

      जीतने वाले कोई अलग काम नहीं करते

बल्कि

    वे हर काम को अलग तरीके से करते हैं

शिव खेडा


25 टिप्पणियाँ:

Learn By Watch ने कहा…

कमाल की फोटो लगाईं है आपने, वैसे किसी भारतीय के बस का रोग नहीं इसको खिलाएगा कहाँ से :) :)

सुरेन्द्र सिंह " झंझट " ने कहा…

wah bhai sahab !
kya tasveer lagai hai ..
ishwar inki bhi manokamna poori kare ..
sundar vichar ke liye sadhuvad!

पी.सी.गोदियाल "परचेत" ने कहा…

कोई अगर सचमुच सेटिंग के चक्करों में पड़ा तो बेचारे को कहीं
खुद ही सेट होना पडेगा :)

ajit gupta ने कहा…

अमेरिका से लाए हैं क्‍या?

दर्शन कौर धनोए ने कहा…

बेचारी, सुशिलजी इस की शादी में तो मै इन्दोर जरुर आउंगी ?

सुशील बाकलीवाल ने कहा…

दर्शनकौरजी ये कोई इन्दौर की नहीं है ।

ज्ञानचंद मर्मज्ञ ने कहा…

अदभुत चित्र !
शिव खेडा जी का सकारात्मक विचार अच्छा लगा !

ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ ने कहा…

गजब।

आप भी कहां कहां से खोज कर लाते हैं।

---------
पुत्र प्राप्ति के उपय।
क्‍या आप मॉं बनने वाली हैं ?

महेन्द्र मिश्र ने कहा…

गजब की फोटो लगाईं है ... वैसे कोई खली जैसा ही भैसा इनसे शादी कर सकता है ... हा हा हा

G.N.SHAW ने कहा…

JAB PUBLICITY HO HI GAYI , BHAGAWAN KOYI JODA BHEJ HI DENGE....YE.......

Tarkeshwar Giri ने कहा…

चित्र का विश्लेषण करने से ये ज्ञात होता हैं कि महिला हैं तो उपर से सुंदर. चूँकि सुन्दरता ही हर चीज नहीं होती. और ना ही हिंदुस्तान में इनके साइज़ का बाथरूम मिलेगा और , यंहा कि सभ्यता इन्हें खुले में स्वीकार नहीं करेगी.

तो नतीजा ये रहा कि भाई हम तो कोई मदद नहीं कर सकते.

Mithilesh dubey ने कहा…

गजब की फोटो लगाईं है कमाल है आपभी ।

वन्दना ने कहा…

मतलब ये कि डायरेक्ट खुदकुशी करेगा

Patali-The-Village ने कहा…

कमाल की फोटो है| हम तो कोई मदद नहीं कर सकते|

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

ऐसे लोग भी हैं विश्व में।

डॉ टी एस दराल ने कहा…

है तो सुन्दर पर ---- थोडा इंतजार करना पड़ेगा , पतला होने के लिए ।

सुशील बाकलीवाल ने कहा…

डा. दराल सर,
वो तो इनके हाथ के चिप्स के पैकेट के रहते सम्भव नहीं लगता.

दीपक 'मशाल' ने कहा…

main hoon na.........

संजय भास्कर ने कहा…

kmal ka photo hai......

ललित शर्मा ने कहा…

कभी तो इसके भी दिन फ़िरेगें। :)

rashmi ravija ने कहा…

शिव खेडा जी ने बड़ी ही सच्ची और ख़ूबसूरत बात कही है...

CS Devendra K Sharma "Man without Brain" ने कहा…

wakai..ye to bahut hi alag dhang se patli hai.............hahahahahh

Dr Varsha Singh ने कहा…

V.a....a...a...ah....Excellent.

V!Vs ने कहा…

hahahaha.......

parmanad dwivedi ने कहा…

JIS prakar लोहा लोहा मैं काटा हैं USI prakar japni femail सूमो मैं कोई जापानी सूमो Hee Mangata हैं हा हा हा हा हा हा है. . . . .

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...