इस ब्लाग परिवार के हमारे सदस्य साथी....

सोमवार, 7 फ़रवरी 2011

अनमोल बोल - 1. अमूल्य विचार.


तीन स्तम्भ जीवन के-

जीवन में तीन स्थाई मित्र हैं-
       बूढी पत्नि,  
             पुराना कुत्ता   
                              और   
                          पास का धन.


मनुष्य के तीन सद्गुण हैं-
          आशा,  
                विश्वास   
                            और  
                           दान.


चिन्ता से तीन चीजों का नाश होता है-
                    रुप,   
                        बल   
                                 और   
                              ज्ञान.

9 टिप्पणियाँ:

Sunil Kumar ने कहा…

शत प्रतिशत सत्य कोई टिप्पणी नहीं.........

कुमार राधारमण ने कहा…

जीवन-सूत्र। कोई असहमति नहीं।

डॉ॰ मोनिका शर्मा ने कहा…

सहेजने योग्य जीवन सूत्र

ZEAL ने कहा…

उपयोगी जीवन सूत्र !

दर्शन कौर धनोए ने कहा…

सुशिल जी ,बहुत गहरी बात की हे आपने ३ का नजरिया काबिले तारीफ हे ~ !

mridula pradhan ने कहा…

wah.yaad kar liye.

Dorothy ने कहा…

सुंदर संदेश. आभार.
आपको वसंत पंचमी की ढेरों शुभकामनाएं!
सादर,
डोरोथी.

संजय भास्कर ने कहा…

आदरणीय सुशिल जी
नमस्कार !
सत्य सत्य सत्य सत्य सत्य
.......सुंदर संदेश

संजय भास्कर ने कहा…

वसंत पंचमी की ढेरो शुभकामनाए

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...