इस ब्लाग परिवार के हमारे सदस्य साथी....

मंगलवार, 18 जनवरी 2011

सफलता के सात सूत्र...


          1. गणेश या गोबर गणेश-  गणेश (सफल व्यक्ति) समय के साथ अपने आपको व अपने विचारों को बदल सकने में सक्षम होता है, जबकि गोबर गणेश अपने अडियल रुख के कारण असफल रहता है ।

          2. सुखीराम और दुःखीराम-  सकारात्मक विचार और आत्मविश्वास से भरा व्यक्ति सुखीराम है और अपने हालात को कोसते रहने वाला दुःखीराम है ।

          3. क्या फर्क पडता है और बहुत फर्क पडता है-  जिम्मेदार और गैर जिम्मेदार व्यक्ति के विचारों में यही अन्तर होता है । जिम्मेदार व्यक्ति ही सफलता प्राप्त करता है ।

          4. गाय दूध नहीं देती-  सफलता प्रयासों से प्राप्त की जाती है, खुद-ब-खुद नहीं मिलती । जैसे गाय स्वयं दूध नहीं देती बल्कि खुद मेहनत करके दूध दुहना पडता है ।

          5. जिम्मेदार लोग प्रतिक्रिया नहीं देते-  जिम्मेदार लोग नाप-तौलकर धैर्य से बातें करते हैं और सामने वाले की बात को सुनते हैं । फिर भले ही स्वयं की आलोचना ही क्यों न हो रही हो ।

          6. अपने काम से प्यार करना सीखें-  किसी भी काम को छोटा-बडा समझने की बजाय सामने उपलब्ध अपने काम से प्यार करना ही सफलता का मूलमंत्र है ।

          7. क्या मैं आपके लिये कुछ कर सकता हूँ-  यह प्रश्न आपसी सम्बन्धों को मजबूती देने के साथ ही दायित्वों के प्रति जिम्मेदारी का अहसास करवाने वाला और सफलता में मददगार हो सकने वाला बन सकता है ।
(नई दुनिया से साभार)

16 टिप्पणियाँ:

Er. सत्यम शिवम ने कहा…

bhut khub.......aapne bhut gudh baat kahi...thnks

Er. सत्यम शिवम ने कहा…

कोई भी व्यक्ति इसे अपना एक सच्चा इंसान बन सकता है....

उपेन्द्र ' उपेन ' ने कहा…

बहुत ही सुंदर जीवन मात्र सफलता की दृष्टि से......... सुंदर प्रस्तुति.

दर्शन कौर धनोए ने कहा…

एक गाना गाने को जी चाह रहा है ----" तारीफ करू क्या उसकी ---जिसने तुझे बनाया |" वाह !!!

डॉ॰ मोनिका शर्मा ने कहा…

मन मस्तिष्क में सहेजने योग्य बातें.....

सुशील बाकलीवाल ने कहा…

दर्शनकौरजी,
कुछ ज्यादा ही तारीफ हो गई है ये.

सुशील बाकलीवाल ने कहा…

@ Er.सत्यमजी,
@ श्री उपेन्द्रजी,
@ डा. मोनिका शर्माजी,
धन्यवाद आप सभीको यहाँ आकर मेरे प्रयासों को पसन्द करने के लिये.

Mithilesh dubey ने कहा…

बहुत ही सुंदर

Rahul Singh ने कहा…

जिम्‍मेदारी की तो पता नहीं, लेकिन आपकी बात धैर्यपूर्वक पढ़ ली.

निशांत मिश्र - Nishant Mishra ने कहा…

बहुत प्रेरक विचार. रोचकता से प्रस्तुत किए हैं आपने.

एस.एम.मासूम ने कहा…

बहुत सही कहा है

सुशील बाकलीवाल ने कहा…

@ श्री मिथिलेशजी,
@ श्री राहुल सिंहजी,
@ श्री निशांत मिश्रजी,
@ श्री एस. एम. मासूम सा.
शुक्रिया आपका इस ब्लाग पर आकर प्रोत्साहन देने के लिये.

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

सातों सूत्र मन बाँध लिये।

mridula pradhan ने कहा…

prerna denewali baaten.

Patali-The-Village ने कहा…

मस्तिष्क में सहेजने योग्य बातें|

गिरधारी खंकरियाल ने कहा…

सातों सूत्र प्रेरणादायक है एवं व्यावहारिक भी .

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...